लोको पायलट क्या होता है और कैसे बने?

लोको पायलट क्या होता है और कैसे बने? | क्या आप भी लोको पायलट बनना चाहते है तो यह लेख आपके लिए बहोत ही खाश होने वाला है क्युकी इसमें हम आपको इससे सबधित सारी जानकारी विस्तारपूर्वक बताने वाले है जैसे लोको पायलट क्या है, इसकी योग्यता, आयु सिमा, भरती, परीक्षा और सबसे सर्वश्रेष्ठ किताबे और Coaching तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़े।

लोको पायलट क्या होता है और कैसे बने

लोको पायलट क्या होता है?

लोको पायलट रेलवे में एक पद होता है। जैसे Airplanes के Driver को पायलट कहते है वैसे ही Train के Driver को लोको पायलट कहते है। इसकी Vacancy आती ही रहती है।

योग्यता:

इसके लिए आपको 10th पास किया होना जरुरी है इसके साथ आपने ITI या Diploma किया होना जरुरी है। ITI के कुछ ही Trade के लोग लोको पायलट बन सकते है। अगर आपने B.E या फिर B.Tech किया है तो भी आप लोको पायलट बन सकते है। ITI के कुछ Popular Trade Electrician, Fitter, Electronics और Diesel Mechanic है।

आयु सिमा:

लोको पायलट बनने के लिए आपकी आयु कम से कम 18 साल और अगर आप General Category से है तो ज्यादा से ज्यादा 30 साल होनी चाहिए। अगर आप SC/ST या फिर अन्य Reservation Category में आते है तो आपको 5 साल की छूट मिलती है मतलब आप 35 साल तक लोको पायलट बनने के लिए Apply कर सकते है।

भरती:

अभी DFC के द्वारा एक corridor बनाया जा रहा है जिसमे 2600 लोको पायलट की Vacancy आने वाली है। इस Post का नाम Captain और Co-Captain होगा। इसके बाद 40000 से 50000 और Vacancy भी आ रही है।

परीक्षा:

इसमें आपकी तीन परीक्षा ली जाती है। पहली है CBT-1, दूसरी है CBT-2 और तीसरी है CBT-3 .CBT का Full Form “computer based test” होता है। CBT-3 को Psychotest भी बोल सकते है।

यह भी पढ़े:

Conclusion

I hope के अब आपको समझ आ गया होगा की लोको पायलट क्या होता है और कैसे बने?. अगर आपको यह पसंद आया है तो इसे Social Media Platform जैसे WhatsApp और Facebook पर जरूर Share करे।

x