150+ ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी में – O Ki Matra Wale Shabd in Hindi

ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी

150+ ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी में – O Ki Matra Wale Shabd in Hindi | क्या आप भी आपके बच्चो के लिए ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी फाइंड कर रहे है तो आप सही जगह पर आये है क्युकी इस आर्टिकल में हमने 150 से भी ज्यादा ऐसे शब्द बताये है जिससे आपको बच्चो को समझाने में आसानी होगी और आपके सारे डाउट क्लियर हो जायेंगे। तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े.

ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी

150+ ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी में – O Ki Matra Wale Shabd in Hindi

मोर चोर
शोर घोर
लोस लोड
तोड़ छोड़
मोड़ टोक
रोक लोक
बोल टोल
झोल थोड़ा
बोर दोस्त
पोर लोग
छोटी मोती
रोमांचक तरोताजा
होठ पोता
पोती लोटा
सोच रोग
कमजोरी कोशिश
होती नोट
प्रोफेशर जोक
पडोशी बोर्ड
मोटा कोट
रोज रोल
गोद कोई
रोना होश
कोई पोल
मोदी ढोल
कटोरी दोपहर
मनोहर तोता
कोयल चोक
गोल मोना
सोना रोग
बोना कोटा
लोमड़ी कोसना
टोपी भोला
रोजा गोला
बोम ओछी
मोड़ना पोहा
ज्योतषी खरगोश
लोप भोले
खोना घोषणा
खोलकर मोहन
सोहन जाओगे
बनोगे कमजोर
दिनों जोरो
रोहित मोहित
संमोहित खोपड़ी
उन्होंने ठोकना
खोट जोड़कर
बहोत लोचा
होइए होम
ओमप्रकाश कोरे
तिनोपर मोतिया
सोना सोकर
चोरी सोचा
पिरोना दोषी
जोशी फलोवाला
चोंच ओहदा
बोज कोली
कोई कोशिस
रोककर गोत्र
गोदाम तुमलोगो
खरगोश सोडा
शोहर माहोल
होड़ जोरो
चोल थोड़े
पोहा पोल
क्रोध सोनपरी
फ़ोरन फ़ोल
थोड़े-थोड़े ओ-हो-हो
छोटे-छोटे भोजन
राजाभोज बोरिया
बोलिया गोल-गोल
लोखंड लोहा
रोशन टोपियों
कोरोना सोनू
प्रोटीन कमजोरी

यह भी पढ़े :

दोस्तों हमें आशा है की आपको बच्चो को समझाने में आसानी हुवी होगी और आपको हमारी यह पोस्ट 150+ ओ की मात्रा वाले शब्द इन हिंदी में – O Ki Matra Wale Shabd in Hindi पसंद भी आयी होगी। अगर यह पोस्ट पसंद आयी है तो इसे शेयर जरूर करे और आपको कुछ शब्द आते है जो इस लिस्ट में बाकि रह गए है तो हमें कमेंट करके जरूर बताये ताकि हमें वे शब्द भी जल्दी से जोड़ पाए. और लास्ट में जयहिन्द।

MBA Full Form in Hindi – एमबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे?

MBA Full Form in Hindi – एमबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे? | इस पोस्ट में हम एमबीए के बारे में पूरी डिटेल में जानकारी देने वाले है जैसे एमबीए फुल फॉर्म क्या है? (What is MBA Full Form?), एमबीए फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है? (What is MBA Full Form in Hindi?), एमबीए क्या है? (What is MBA?), एमबीए की अवधि कितनी होती है? (What is the duration of MBA?), एमबीए किस प्रकार का कोर्स है? (What type of course is MBA?), एमबीए का मोड्स क्या है और एमबीए कैसे करे? (What is the mode of MBA and how to do MBA?), एमबीए के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? (What should be the eligibility for MBA?) एमबीए की प्रवेश प्रक्रिया क्या है? (What is MBA admission process?), एमबीए में एडमिशन के लिए कोनसी प्रवेश परीक्षा क्रैक करनी पड़ती है? (For admission in MBA, which entrance exam has to be cracked?), दुनिया के शीर्ष एमबीए कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top MBA colleges in the world?), भारत में एमबीए के शीर्ष कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top colleges of MBA in India?), एमबीए में फी स्ट्रक्चर कैसा होता है? (What is the fee structure of MBA?).

एमबीए में कोन कोन से स्पेशलाइजेशन ऑफर किये जाते है? (What specializations are offered in MBA?), एमबीए में कोन कोन से कॉमन सब्जेक्ट होते है? (What are the common subjects in MBA?), एमबीए का सिलबस कैसा है? (What is an MBA syllabus like?), इंडिया में ज्यादा एमबीए स्टूडेंट को जॉब देने वाली कम्पनीज कोनसी है? (Who are the top recruiters for MBA students in India?), एमबीए करने के बाद आपको कहा कहा जॉब मिल सकती है? (After doing MBA, where can you get a job?), एमबीए करने के बाद कोनसी पोजीशन पे जॉब मिल सकती है? (Which position can I get a job after doing MBA?), दुनिया में ज्यादा एमबीए स्टूडेंट को जॉब देने वाली कम्पनीज कोनसी है? (Which companies provide more MBA student jobs in the world?), एमबीए करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है? (How much salary do you get after doing MBA?), एमबीए के बाद कोनसे कोर्स कर सकते है? (What course can I take after MBA?) तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े.

MBA Full Form in Hindi – एमबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे?

MBA Full Form in Hindi

MBA का Full Form “Master of Business Management” होता है जिसे हिंदी में “व्यवसाय प्रबंधन के मास्टर” भी कहा जाता है। यह Management Field की एक Recognized Postgraduate डिग्री है। अगर आपको Management के Field में Career बनाना है या फिर आगे जाके Business करना है तो यह Course आपके लिए मददगार साबित हो सकता। है

MBA क्या है?

जैसा की हमने पहले आपको बताया एमबीए का पूरा नाम मास्टर ऑफ़ बिज़नेस मैनेजमेंट (Master of Business Management) जिसका हिंदी में अर्थ व्यवसाय प्रबंधन के मास्टर (Vyavasay Prabandhan Me Master) है. एमबीए कॉमर्स और बिज़नेस मैनेजमेंट का एक पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है. जिसे करने के बाद आपके पास मैनेजमेंट फिल्ड की मास्टर डिग्री होती है. और यह मैनेजमेंट फिल्ड की प्रोफेशनल डिग्री है.

MBA Duration

एमबीए की अवधि (Duration of MBA) 2 साल (2 Years) की होती है जिसे आप अलग अलग तरीके से कर सकते है जिसे हम इस आर्टिकल में आगे डिसकस करेंगे।

MBA Modes

  • Distance Learning MBA
  • Executive MBA
  • Full-time MBA
  • Online MBA
  • Part-time MBA

MBA Eligibility

अगर आपने ग्रेजुएशन कम्पलीट किया हुवा है तो आप एमबीए कर सकते है. फिर चाहे वो किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया हो. कुछ यूनिवर्सिटीज और कॉलेज अपने यहाँ एडमिशन के लिए मिनिमम 50 परसेंटेज की कम्पलसर रख सकती है.और कुछ यूनिवर्सिटी और कॉलेज एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करती है जिसे क्रैक करने के बाद आपको एडमिशन मिलता है.

यह भी पढ़े-

MBA Admission Process

  1. Merit Based Admission
  2. Entrance Exam Based Admission

MBA Entrance Exam

  • ATMA – Aims Test for Management Admissions
  • CAT – Common Admission Test
  • CMAT – Common Management Admission Test
  • GMAT – Graduate Management Aptitude Test
  • IIFT – Indian Institute of Foreign Trade
  • IRMA – Institute of Rural Management Anand
  • MAT – Management Aptitude Test
  • MICAT – MICA Admission Test
  • NMAT – NMIMS Management Aptitude Test
  • SNAP – Symbiosis National Aptitude Test
  • TISSNET – Tata Institute of Social Sciences
  • XAT – Xavier Aptitude Test

Top MBA Colleges in the World

  1. Penn (Wharton), Philadelphia (PA), United States
  2. Stanford, Stanford (CA), United States
  3. INSEAD Fontainebleau Singapore, Multi Campus
  4. MIT (Sloan), Cambridge (MA), United States
  5. Harvard, Boston (MA), United States
  6. London Business School, London, United Kingdom
  7. HEC Paris, Jouy-en-Josas, France
  8. Chicago (Booth), Chicago (IL), United States
  9. UC Berkeley (Haas), Berkeley (CA) United States
  10. North-western (Kellogg), Evanston (IL), United States

यह भी पढ़े – QS Global MBA Rankings 2020

Top MBA Colleges in India

  1. IIM Ahmedabad – Indian Institute of Management
  2. IIM Bangalore – Indian Institute of Management
  3. IIM Calcutta – Indian Institute of Management
  4. XLRI Xavier School of Management
  5. IIM Lucknow – Indian Institute of Management
  6. IIM Indore – Indian Institute of Management
  7. IIM Kozhikode – Indian Institute of Management
  8. MDI Gurgaon – Management Development Institute
  9. SPJIMR – S.P. Jain Institute of Management and Research
  10. Indian School of Business, Hyderabad

यह भी पढ़े – Top MBA Colleges in India 2020

MBA Fees

भारत में एमबीए की एवरेज फीस 60,000 INR से 3,00,000 INR (60,000 INR to 3,00,000 INR) तक है और आप ये तो जानते ही है की आप गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन ले लेते है तो आपको बहोत ही कम फीस चुकानी पड़ती है. हमने कुछ टॉप कॉलेज की फीस की लिस्ट बनायीं है जिसे आपको जानना चाहिए।

  • AIMS Institute of Management Studies – 3.69 Lakh INR
  • Chaitanya Bharathi Institute of Technology – 86,000 INR
  • CUSAT – Cochin University of Science and Technology – 42,000 INR
  • Department of Management Studies, Anna University – 56,550 INR
  • FMS – New Delhi – 20,960 INR
  • IIT Bombay – Shailesh J. Mehta School of Management – 8.32 Lakh INR
  • IIT Roorkee – 6.23 Lakh INR
  • MIT Pune – MIT World Peace University – 3.50 Lakh INR
  • NMIMS Mumbai-School of Business Management – 19.76 Lakh INR
  • Symbiosis Centre for Management and Human Resource Development, Pune – 8.13 Lakh INR

MBA Specialization

  • MBA in Finance
  • MBA in Human Resource Management (HR)
  • MBA in International Business
  • MBA in Information Technology (IT)
  • MBA in Logistics Management
  • MBA in Leadership
  • MBA in Marketing Management
  • MBA in Corporate Social Responsibility (CSR)
  • MBA in Business Management
  • MBA in Rural Management
  • MBA in Entrepreneurship
  • MBA in Health Care Management
  • MBA in Strategy
  • MBA in Operations Management
  • MBA in Event Management
  • MBA in Innovation

MBA Common Subjects

  • Business laws
  • Business Communication
  • Business environment
  • Business planning
  • Communication skills
  • Finance management
  • Economics
  • Entrepreneurship
  • HR management
  • Marketing
  • Organizational behavior
  • Project work
  • Principles of management
  • Retail management
  • Taxation

MBA Syllabus

Semester- 1

  • Business Communication
  • Financial Accounting
  • Human Resource Management
  • Information Technology Management
  • Marketing Management
  • Managerial Economics
  • Organizational Behavior
  • Quantitative Methods

Semester- 2

  • Economic Environment of Business
  • Financial Management
  • Marketing Research
  • Management Accounting
  • Management Science
  • Management of Information System
  • Operation Management
  • Organization Effectiveness and Change

Semester- 3

  • Business Ethics & Corporate Social Responsibility (CSR)
  • Elective Course
  • Legal Environment of Business
  • Strategic Analysis

Semester- 4

  • Elective Course
  • International Business Environment
  • Project Study
  • Strategic Management

Top MBA Recruiters in India

  • Mahindra
  • Reliance
  • ICICI Bank
  • HDFC
  • Aditya Birla Group
  • Tata
  • Wipro
  • Amazon
  • Asian Paints
  • Citibank
  • ITC
  • Samsung
  • Vodafone
  • Philips
  • Nestle
  • Cipla
  • Flipkart
  • Bajaj
  • Infosys
  • Pidilite

MBA Employment Area

  • Airlines Executives
  • Banks Executives
  • Government Sector jobs
  • Hospitals Executives
  • Management Consultants
  • Multi-national companies
  • Public Sector jobs
  • Private Sector Jobs

MBA Job Types

  • Advertising Sales Manager
  • Data Analytics Manager
  • Digital Marketing Manager
  • Energy & Environment Manager
  • Finance Manager
  • Healthcare & Hospital Manager
  • Human Resources Manager
  • Import & Export Manager
  • Infrastructure Manager
  • International Business Manager
  • IT & Systems Manager
  • Marketing Manager
  • Materials Manager
  • NGO Manager
  • Operations Manager
  • Product Manager
  • Project Manager
  • Public Policy Manager
  • Retail Manager
  • Risk Manager
  • Sales Manager
  • Supply Chain Manager
  • Telecom Manager
  • Transport & Logistics Manager

Top MBA Recruiters in the World

  • Accenture
  • Amazon
  • Asian Paints
  • Avendus
  • BCG
  • Credit Suisse
  • Crisil
  • EXL
  • GAR
  • HSBC
  • JP Morgan Chase & Co.
  • Larsen & Tubro
  • McKinsey & Company
  • Microland
  • Microsoft
  • Nestle
  • Philips
  • Samsung
  • TAS
  • Tata
  • Vodafone

MBA Salary

एमबीए कम्पलीट करने के बाद आपको 15000 INR से 45000 INR हर महीने सैलरी (15000 INR to 45000 INR Per Month) मिल सकती है. और ये तो आप भी जानते है की आपके पास जितना ज्यादा एक्सपीरियंस और स्किल है उतनी ही ज्यादा सैलरी आपको मिल सकती है. हमने हर पोस्ट के हिसाब से एवरेज सैलरी बताई है जिससे आप आपकी सैलरी का अनुमान लगा सकते है. याद रहे ये सैलरी कंपनी तो कंपनी अलग अलग हो सकती है.

Advance Courses After MBA

  • Certification in Risk Management Assurance (CRMA)
  • Certified in Production and Inventory Management (CPIM)
  • Certified Information Systems Auditor (CISA)
  • Chartered Financial Analyst (CFA)
  • Course for Banking Exam
  • Course for Government Exam
  • Financial Risk Manager (FRM) Exam
  • Project Management Professional (PMP)

FAQ About MBA in Hindi :

MBA कैसे करे?

डिस्टेंस लर्निंग एमबीए (Distance Learning MBA), एग्जीक्यूटिव एमबीए (Executive MBA), फुल- टाइम एमबीए (Full-time MBA), ऑनलाइन एमबीए (Online MBA), पार्ट-टाइम एमबीए (Part-time MBA) आप इनमे से कोई एक ऑप्शन सेलेक्ट करके एमबीए कम्पलीट कर सकते है.

एमबीए कब किया जाता है?

जब आप किसी भी फिल्ड में ग्रेजुएशन कम्पलीट कर देते है तब एमबीए किया जाता है.

एमबीए कोर्स की फीस कितनी है?

एमबीए कोर्स की एवरेज फीस 60,000 INR से 3,00,000 INR (60,000 INR to 3,00,000 INR) है.

MBA का मतलब क्या है?

MBA का मतलब मास्टर ऑफ़ बिज़नेस मैनेजमेंट (Master of Business Management) है जिसका हिंदी में अर्थ व्यवसाय प्रबंधन के मास्टर (Vyavasay Prabandhan Me Master) है.

एमबीए के बाद क्या करें?

एमबीए के बाद आप जॉब, बिज़नेस या फिर आगे कोई कोर्स कर सकते है.

MBA कितने साल का है?

MBA 2 साल (2 Years) का है.

MBA करने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए?

MBA करने के लिए 50 परसेंटेज होने चाहिए लेकिन कुछ कॉलेज सिर्फ ग्रेजुएशन कम्पलीट होने पर भी एडमिशन दे देती है. और कुछ यूनिवर्सिटी एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम भी लेती है.

Conclusion:

दोस्तों एक Research के मुताबिक हमारे भारत 70% से ज्यादा Students बेरोजगार है या तो इससे कम Level की Job करते है।

दोस्तों हम आशा रखते है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा । अगर आपको हमारा यह आर्टिकल MBA Full Form in Hindi – एमबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे? पसंद आया हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताये और शेयर करना बिलकुल न भूले और आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ने के लिए आपका बहोत बहोत धन्यवाद और लास्ट में जयहिंद।

Aadhar Card New App Features in Hindi – आधार कार्ड के नए एप्प की जानकारी

Aadhar Card New App Features in Hindi

Aadhar Card New App Features in Hindi – आधार कार्ड के नए एप्प की जानकारी | आधार कार्ड के नई अपडेटेड एप्लीकेशन में काफी फीचर्स दिए गए है जिससे आप आधार कार्ड से रिलेटेड काफी सारे काम अपने मोबाइल से ही कर सकते है. जैसे की आधार कार्ड डाउनलोड करना, आधार कार्ड में एड्रेस अपडेट कराना, आधार कार्ड वेरीफाई करना, मोबाइल नंबर वेरीफाई कराना, क्यूआर कोड जनरेट कराना, वीआईडी आनी वर्चुअल आईडी नंबर जेनेरेट करना और साथ ही डिजिटल आधार कार्ड कैर्री करना जिसे आप कही भी वेरिफिकेशन के लिए शो कर सकते है. तो आजके इस आर्टिकल में में आपको दिखाने वाला हु की आधार कार्ड के नई अपडेटेड एप्लीकेशन को यूज़ कैसे करना है तो चलिए स्टार्ट करते है.

Aadhar Card New App Features in Hindi

mAadhar Card App के बारे में जरुरी जानकारी

  • एप्प का नाम : mAadhar
  • मलिकी : Unique Identification Authority of India (UIDAI)
  • इनस्टॉल : 10,000,000+ (एक करोड़ से ज्यादा)
  • रेटिंग्स : 3.8/5 (पांच में से तीन पॉइंट आठ)
  • रिव्यु देने वालो की संख्या : 117,892 (एक लाख सत्रा हजार आठसो बानवे)
  • अपडेटेड ऑन : दिसंबर 10, 2019
  • एप्प की साइज : 45 MB
  • करंट वर्शन : 2.0.13
  • एप्प चलाने के लिए एंड्राइड जरुरी : 5.0 और उससे ज्यादा
  • प्राइस : फ्री में उपलब्ध

Aadhar Card New App Features in Hindi – आधार कार्ड के नए एप्प की जानकारी

स्टेप 1 : सबसे पहले प्ले स्टोर पर जाकर एक एप्लीकेशन डाउनलोड करे जिसके नाम है mAadhar. इसे आप इसके नाम पे क्लिक करके भी डाउनलोड कर सकते है.

Aadhar Card App 1

स्टेप 2 : एप्प डाउनलोड करने के बाद इसके कुछ हाईलाइट फीचर्स देख सकते है जिससे नेक्स्ट नेक्स्ट करने के बाद गेट स्टार्टेड पर क्लिक करे.

Aadhar Card App 2

स्टेप 3 : गेट स्टार्टेड पर क्लिक करने के बाद I Consent पर क्लिक करे.

Aadhar Card App 3

स्टेप 4 : इसके बाद यहाँ पर बहोत सारी लैंग्वेज ऑफर की जाती है जिसमे से आप आपके पसंद की कोई भी लैंग्वेज सेलेक्ट करे. यहाँ पे हम इंग्लिश सेलेक्ट कर रहे है आप कोई भी सेलेक्ट कर सकते है.

Aadhar Card App 4

स्टेप 5 : उसके बाद दन पे क्लिक करे.

स्टेप 6 : अब इसमें आपका मोबाइल नम्बर डालना होगा जो आपके आधार कार्ड के साथ लिंक है।मोबाइल नंबर लिखने के बाद नेक्स्ट पे क्लिक करे.

Aadhar Card App 5

स्टेप 7 : मोबाइल नंबर डालने के बाद आपके मोबाइल पे एक OTP आएगा वो आपको यहाँ डालना है और सबमिट पे क्लिक करना है.

Aadhar Card App 6

स्टेप 8 :अब यहाँ पर आप देखेंगे काफी सारी सर्विसेज दी गयी होगी।

आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करे? (How to Download Aadhar Card?)

स्टेप 1 : सबमिट करने के बाद सबसे पहली सर्विस है Download Aadhar की. जिसकी मदद से आप आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते है.

स्टेप 2 : आधार कार्ड डाउनलोड करने के लिए आपके पास आधार नंबर, वर्चुअल आईडी या फिर एनरोलमेंट आईडी नंबर तीनो में से एक होना चाहिए।

Aadhar Card Download 1

स्टेप 3 : इन तीनो में से आधार कार्ड डाउनलोड करने के लिए हम यह पे आधार कार्ड नंबर डालेंगे।इसके बाद निचे जो कैप्चा दिखई दे रहा है वो सेम कॅप्टच निचे के बॉक्स में लिखे।

Aadhar Card Download 2

स्टेप 4 : कैप्चा लिखने के बाद Request otp पे क्लिक करे.

Aadhar Card Download 3

स्टेप 5 : आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक otp आएगा। वो otp आपको यहाँ डालना है और इसके बाद वेरीफाई पे क्लिक करना है.

Aadhar Card Download 4

स्टेप 6 : वेरीफाई पे क्लिक करते ही आपका आधार कार्ड डाउनलोड हो जायेगा।

स्टेप 7 : अब Open करने के लिए आपको पासवर्ड डालना पड़ेगा और वो पासवर्ड है आपका जो नाम है उसके शुरू के चार लेटर्स और आपका जो जन्म तारीख है उसका ईयर. फॉर एग्जामपल मेरा नाम HITESH है तो मेरे नाम के शुरू के चार लेटर्स मतलब HITE और मेरे जन्म तारीख का साल है 1998 तो वो 1998. मतलब मेरा पासवर्ड बनेगा HITE1998. [Note : आपके पासवर्ड में जो नाम के पहले चार लेटर्स है वो Capital में ही लिखने है। ]

Aadhar Card Download 5

स्टेप 8 : अब पासवर्ड डालने के बाद open पे क्लिक करे.

इसके अलावा भी इस एप्प में बहोत साडी सर्विसेज दी जाती है जैसे आर्डर आधार री-प्रिंट, पेपरलेस ऑफ़लाइन इ-केवायसी, जेनेरेट क्यू आर कोड, वगेरा तो आप इन सब फैसिलिटी का भी लाभ ले सकते है.

यह भी पढ़े :

दोस्तों हम आशा रखते है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा । अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Aadhar Card New App Features in Hindi – आधार कार्ड के नए एप्प की जानकारी पसंद आया हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताये और शेयर करना बिलकुल न भूले और आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ने के लिए आपका बहोत बहोत धन्यवाद और लास्ट में जयहिंद।

What is PFMS Know Your Payment in Hindi – पीएफएमएस नो योर पेमेंट

PFMS Know Your Payment

What is PFMS Know Your Payment in Hindi – पीएफएमएस नो योर पेमेंट | अगर आपके मनमे भी ये सवाल उठता है या आप भी पीएफएमएस नो योर पेमेंट (PFMS Know Your Payment) क्या है और इससे पेमेंट कैसे जाने ये जानना चाहते है तो आप सही जगह पर आये है क्युकी इस आर्टिकल में हम आपको इसके बारे में डिटेल में जानकारी देंगे और इसके लिए आपको कही दूसरी जगह पे जाना नहीं पड़ेगा तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े.

PFMS Know Your Payment

पीएफएमएस नो योर पेमेंट क्या है? (What is PFMS Know Your Payment in Hindi)

पीएफएमएस नो योर पेमेंट (PFMS Know Your Payment) पीएफएमएस (PFMS) द्वारा दी जाने वाली एक फैसिलिटी है जिससे आप आपके अकाउंट में किया गया पेमेंट जान सकते है, पेमेंट किया गया है पर अभी अकाउंट में आया है की नहीं ये भी जान सकते है, पेमेंट कैंसिल हुवा है, पेमेंट का स्टेटस जान सकते है जैसे पेमेंट सक्सेस है, पेंडिंग है या कैंसिल (Success, Pending or Cancel) हुवा है. आप ये भी जान सकते है की पेमेंट पीएफएमएस द्वारा कब हुवा था और पेमेंट किस तारीख को बैंक अकाउंट में जमा हुवा है और कितने टाइम को जमा हुवा है. चल अब जान लेते है की आप कैसे अपने लिए पेमेंट जान सकते है.

पीएफएमएस नो योर पेमेंट से अकाउंट का पेमेंट कैसे जाने?

स्टेप 1 : सबसे पहले गूगल (Google) ओपन करे और उसमे पीएफएमएस नो योर पेमेंट (PFMS Know Your Payment) सर्च (Search) करे. या इस दी गयी लिंक पे क्लिक करे.

PFMS Know Your Payment 1

स्टेप 2 : अब सर्च रिजल्ट (Search Result) में जो पहली लिंक (Link) दिख रही है उसपे क्लिक (Click) करे.

PFMS Know Your Payment 2

स्टेप 3 : लिंक पे क्लिक करने के बाद आप वेबसाइट (Website) पे लैंड (Land) हो जायेंगे। उसमे दिखाए गए पहले बॉक्स में आपका अकाउंट (Account) जिस बैंक (Bank) में है उस बैंक का नाम (Bank Name) लिखे या जिस बैंक अकाउंट का पेमेंट जानना चाहते है उस बैंक का नाम लिखे।

PFMS Know Your Payment 3

स्टेप 4 : अब दूसरे बॉक्स (Second Box) में आपके बैंक अकाउंट का नंबर लिखे फॉर एक्साम्प्ल मेरे बैंक अकाउंट का नंबर 1000000 है तो में ये इस बॉक्स में लिखूंगा।

PFMS Know Your Payment 4

स्टेप 5 : अब वही बैंक अकाउंट नंबर तीसरे बॉक्स (Third Box) में भी लिखिए फॉर एक्साम्प्ल में दूसरे बॉक्स में भी 1000000 ही लिखूंगा।

PFMS Know Your Payment 5

स्टेप 6 :अब जो चौथे नंबर का बॉक्स (Forth Box) है उसमे जो कॅप्टचा कोड (Captcha) दिखाई दे रहा है वही शेम कोड पांच में बॉक्स में लिखिए। फॉर एक्साम्प्ल मेरे चौथे बॉक्स में 3e5797 है तो में पांच में बॉक्स में भी 3e5797 यही लिखूंगा।

PFMS Know Your Payment 5

स्टेप 7 : अब पांचवा बॉक्स के निचे सर्च का बॉक्स है उसपे क्लिक करे.और सर्च के बॉक्स पे क्लिक करते ही आप के पेमेंट की पूरी डिटेल्स आ जाएगी।

PFMS Know Your Payment 7

दोस्तों हम आशा रखते है की आपको हमारा यह आर्टिकल What is PFMS Know Your Payment in Hindi – पीएफएमएस नो योर पेमेंट पसंद आया होगा । अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताये और शेयर करना बिलकुल न भूले और आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ने के लिए आपका बहोत बहोत धन्यवाद और लास्ट में जयहिंद।

B.Com Full Form in Hindi – बीकॉम कोर्स क्या होता है और कैसे करे?

B.Com Full Form in Hindi – बीकॉम कोर्स क्या होता है और कैसे करे? | इस पोस्ट में हम बीकॉम के बारे में पूरी डिटेल में जानकारी देने वाले है जैसे बीकॉम फुल फॉर्म क्या है? (What is B.Com Full Form?), बीकॉम फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है? (What is B.Com Full Form in Hindi?), बीकॉम क्या है? (What is B.Com?), बीकॉम की अवधि कितनी होती है? (What is the duration of B.Com?), बीकॉम किस प्रकार का कोर्स है? (What type of course is B.Com?), बीकॉम का मोड्स क्या है और बीकॉम कैसे करे? (What is the mode of B.Com and how to do B.Com?), बीकॉम के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? (What should be the eligibility for B.Com?) बीकॉम की प्रवेश प्रक्रिया क्या है? (What is B.Com admission process?), बीकॉम गवर्नमेंट कॉलेज से करे या प्राइवेट कॉलेज से करे? (Do it from B.Com Government College or from Private College?) बीकॉम में एडमिशन के लिए कोनसी प्रवेश परीक्षा क्रैक करनी पड़ती है? (For admission in B.Com, which entrance exam has to be cracked?), दुनिया के शीर्ष बीकॉम कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top B.Com colleges in the world?), भारत में बीकॉम के शीर्ष कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top colleges of B.Com in India?), बीकॉम में फी स्ट्रक्चर कैसा होता है? (What is the fee structure of B.Com?).

बीकॉम  में कोन कोन से स्पेशलाइजेशन ऑफर किये जाते है? (What specializations are offered in B.Com?), बीकॉम में कोन कोन से सब्जेक्ट होते है? (What are the subjects in B.Com?), इंडिया में ज्यादा बीकॉम स्टूडेंट को जॉब देने वाली कम्पनीज कोनसी है? (Who are the top recruiters for B.Com students in India?), बीकॉम करने के बाद आपको कहा कहा जॉब मिल सकती है? (After doing B.Com, where can you get a job?), बीकॉम करने के बाद कोनसी पोजीशन पे जॉब मिल सकती है? (Which position can I get a job after doing B.Com?), बीकॉम करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है? (How much salary do you get after doing B.Com?), बीकॉम के बाद कोनसे कोर्स कर सकते है? (What course can I take after B.Com?) तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े.

B.Com Full Form in Hindi

बीकॉम फुल फॉर्म क्या है? (What is B.Com Full Form?)

बीकॉम फुल फॉर्म (B.Com Full Form) = बैचलर ऑफ़ कॉमर्स (Bachelor of Commerce) है.

बीकॉम फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है? (What is B.Com Full Form in Hindi?)

बीकॉम फुल फॉर्म इन हिंदी (B.Com Full Form in Hindi) = वाणिज्य स्नातक (Vanijya Snatak) है.

बीकॉम क्या है? (What is B.Com?)

जैसा की हमने पहले बताया बीकॉम का पूरा नाम बैचलर ऑफ़ कॉमर्स है जिसका हिंदी में अर्थ वाणिज्य स्नातक होता है. यह एक कॉमर्स की बैचलर डिग्री है. बीकॉम जरुरी नहीं है की आप कॉमर्स के स्टूडेंट हो तो ही कर सकते है बल्कि अगर आप आर्ट्स या साइंस से बिलोंग करते है तो भी बीकॉम कर सकते है.

बीकॉम की अवधि कितनी होती है? (What is the duration of B.Com?)

बीकॉम की अवधि (duration of B.Com) तीन साल (3 Years) की होती है.

बीकॉम किस प्रकार का कोर्स है? (What type of course is B.Com?)

बीकॉम प्रकार का (type of B.Com) डिग्री (Degree) है. ये डिप्लोमा नहीं है और ये सर्टिफिकेट कोर्स भी नहीं है बल्कि यह एक डिग्री है.

बीकॉम का मोड्स क्या है और बीकॉम कैसे करे? (What is the mode of B.Com and how to do B.Com?)

बीकॉम आप दो तरीके से कर सकते है जो निम्नलिखित है.

  1. जनरल [पास कोर्स] (General) [Pass Course] : जनरल में आपको सात से आठ (7 to 8) सब्जेक्ट्स पढ़ने होते है. और इसमें कोई स्पेशलाइजेशन नहीं होता है.
  2. स्पेशलाइजेशन [होनोर्स] (Specialization) [Hons.] : इसमें आपको कॉलेज के लास्ट ईयर में या लास्ट सेमेस्टर में कोई एक स्पेसिफिक सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन करना होता है.

बीकॉम के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? (What should be the eligibility for B.Com?)

अगर आपके मन में भी ये सवाल उठता है की कोन बीकॉम कर सकता है तो इसका जवाब है अगर आप बीकॉम करना चाहते है तो आप 10+2 होना चाहिए मतलब HSC और 12th पास किया होना चाहिए और इसके साथ साथ मिनिमम 45% मार्क्स भी होने चाहिए। और जैसा की मेने पहले आपको बताया इसमें स्ट्रीम मेटर नहीं करती अगर आप साइंस,कॉमर्स या आर्ट्स किसी भी स्ट्रीम से हो तो आप बीकॉम कर सकते है.

बीकॉम की प्रवेश प्रक्रिया क्या है? (What is B.Com admission process?)

अलग अलग कॉलेजेस का अलग अलग जगह, सिटी, स्टेट में बीकॉम में एडमिशन देने के लिए अलग अलग तरीका है और बीकॉम में एडमिशन देने के लिए मैनली दो तरीके है जो निम्नलिखित है.

  1. डायरेक्ट एडमिशन (Direct Admission) : हमारे भारत में 80 % कॉलेजेस में बीकॉम के लिए डायरेक्ट एडमिशन मिल जाते है.
  2. एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) : इंडिया में कुछ ऐसा कॉलेज और यूनिवर्सिटीज भी है जो बीकॉम में एडमिशन देने के लिए एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करती है. ये कॉलेज और यूनिवर्सिटीज पे देपेंद करता है.

बीकॉम गवर्नमेंट कॉलेज से करे या प्राइवेट कॉलेज से करे? (Do it from B.Com Government College or from Private College?)

अक्सर कई स्टूडेंट्स के मन में ये डाउट रहता है की सर हम बीकॉम गवर्नमेंट कॉलेज से करे या प्राइवेट कॉलेज से करे तो हमारी आपको सलाह है की हमेशा प्रेफर करिये गवर्नमेंट कॉलेजेस। एक तो रेपुटेशन का तो फर्क है ही वो तो हम सबको भी पता है और गवर्नमेंट कॉलेज से बीकॉम करने पे आपको एक रेकग्निशन मिल जाता है की आपने इस गवर्नमेंट रेपुटेड कॉलेज से बीकॉम किया है और बात करे प्राइवेट कॉलेज की तो हमारे देश में ऐसी हजारो कॉलेज है जो बीकॉम ऑफर करती है.

दूसरा पॉइंट है कॉस्ट इफेक्टिव। अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से बीकॉम करते है तो प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले आपको बहुत ही कम फीस चुकानी पड़ेगी और एजुकेशन भी अच्छा मिलेगा।

बीकॉम में एडमिशन के लिए कोनसी प्रवेश परीक्षा क्रैक करनी पड़ती है? (For admission in B.Com, which entrance exam has to be cracked?)

बीकॉम में एडमिशन के लिए कुछ कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करती है जिसका नाम निम्नलिखित है.

  • आईपीयू केट (IPU CET)
  • एनएमआईएमएस एनपीएटी (NMIMS NPAT)
  • बीएचयू यूएटी (BHU UET)
  • यूपीइएस (UPES)
  • जैन यूनिवर्सिटी जेट (Jain University JET)
  • वेल्स यूनिवर्सिटी वीईई (Vels University VEE)
  • पीईएसएसएटी (PESSAT)
  • दयानंद सागर यूनिवर्सिटी डीसेट (Dayananda Sagar University DSAT)
  • एलपीयू नेस्ट (LPU NEST)
  • आइमा युगेट (AIMA UGAT)
  • शारदा यूनिवर्सिटी एसयूएटी (Sharda University SUAT)

दुनिया के शीर्ष बीकॉम कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top B.Com colleges in the world?)

  1. लंदन बिज़नेस स्कूल (London Business School)
  2. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University)
  3. इनसीड (INSEAD)
  4. स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University)
  5. यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेनसिलवेनिया (University of Pennsylvania)
  6. मेसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट टेक्नोलॉजी (Massachusetts Institute of Technology) (MIT)
  7. यूनिवर्सिटा कमर्सिले लुइगी बोक्सोनी (Università Commerciale Luigi Bocconi)
  8. यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड (University of Oxford)
  9. लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स एंड पोलिटिकल साइंस (London School of Economics and Political Science) (LSE)
  10. कोपेनहेगेन बिज़नेस स्कूल (Copenhagen Business School)

यह भी पढ़े – Top 10 Universities for Business & Management

भारत में बीकॉम के शीर्ष कॉलेज कौन से हैं? (Which is the top colleges of B.Com in India?)

  1. लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, [एलपीयू] जलंधर (Lovely Professional University, [LPU] Jalandhar)
  2. क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंग्लोर (Christ University, Bangalore)
  3. जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी, [जेएनयु] जयपुर (Jaipur National University, [JNU] Jaipur)
  4. लोयोला कॉलेज, चेन्नई (Loyola College, Chennai)
  5. दून बिज़नेस स्कूल, [डीबीएस] देहरादून (Doon Business School, [DBS] Dehradun)
  6. किरोरीमल कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी (Kirorimal College, Delhi University)
  7. एमिटी यूनिवर्सिटी, नॉएडा (Amity University, Noida)
  8. मद्रास क्रिस्चियन कॉलेज [एमसीसी] चेन्नई (Madras Christian College, [MCC] Chennai)
  9. अंसल यूनिवर्सिटी, गुडगाँव (Ansal University, Gurgaon)
  10. एसटी जोसेफ्स कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स ऑटोनोमस, बैंग्लोर (St Josephs College of Commerce Autonomous, Bangalore)

यह भी पढ़े – Top B.Com Colleges in India – List of B.Com Colleges

बीकॉम में फी स्ट्रक्चर कैसा होता है? (What is the fee structure of B.Com?)

बीकॉम में प्राइवेट यूनिवर्सिटी द्वारा एवरेज फी (B.Com Private University Fee Structure) 50,000 INR से लेके 1,50,000 INR (50,000 INR to 1,50,000 INR) तक चार्ज किया जाता है. बीकॉम में फी स्ट्रक्चर इस्पे भी डिपेंड करता है की आप किस स्टेट, सिटी, एरिया में रहते हो. और यह कॉलेज के रेपुटेशन पे भी देपेंद करता है. और ये तो आप भी जानते हो की हमारे यहाँ गवर्नमेंट यूनिवर्सिटी में बीकॉम फी स्ट्रक्चर (B.Com Government University Fee Structure) बहोत ही काम है जो एवरेज 25,000 INR से लेके 75,000 INR (25,000 INR to 75,000 INR) तक चार्ज किया जाता है.

यह भी पढ़े –

बीकॉम  में कोन कोन से स्पेशलाइजेशन ऑफर किये जाते है? (What specializations are offered in B.Com?)

बीकॉम में जितने भी स्पेशलाइजेशन ऑफर किये जाते है उनके नाम निम्नलिखित है.

  • बीकॉम होनोर्स (B.Com Honors)
  • बीकॉम मैनेजमेंट स्टडीज (B.Com Management Studies)
  • बीकॉम इकॉनमिक्स (B.Com Economics)
  • बीकॉम कंप्यूटर ऍप्लिकेशन्स (B.Com Computer Applications)
  • बीकॉम टैक्सेशन (B.Com Taxation)
  • बीकॉम फॉरेन ट्रेड मैनेजमेंट (B.Com Foreign Trade Management)
  • बीकॉम बैंकिंग मैनेजमेंट (B.Com Banking Management)
  • बीकॉम इ-कॉमर्स (B.Com E-Commerce)
  • बीकॉम एकाउंटेंसी (B.Com Accountancy)

बीकॉम में कोन कोन से सब्जेक्ट होते है? (What are the subjects in B.Com?)

सेमेस्टर : 1

  • इंग्लिश एंड बिज़नेस कम्युनिकेशन (English and Business Communication)
  • प्रिंसिपल्स एंड प्रैक्टिसेज ऑफ़ मैनेजमेंट (Principles and Practices of Management)
  • इंटरडिस्किलिनारी साइकोलॉजी फॉर मैनेजर्स (Interdisciplinary Psychology for Managers)
  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ फाइनेंसियल एकाउंटिंग (Principles of Financial Accounting)
  • कम्युनिकेशन लॉज़ (Commercial Laws)
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स -१ (Business Economics-I)

सेमेस्टर : 2

  • इंग्लिश एंड बिज़नेस कम्युनिकेशन (English and Business Communication)
  • इंटरडिसिप्लिनरी इ-कॉमर्स (Interdisciplinary e-Commerce)
  • एनवायरनमेंट (Environment)
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स -२ (Business Economics-II)
  • बिज़नेस लॉज़ (Business Laws)
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट (Human Resource Management)
  • कॉर्पोरेट एकाउंटिंग (Corporate Accounting)

सेमेस्टर : 3

  • बैंकिंग एंड इन्शुरन्स (Banking and Insurance)
  • बिज़नेस मैथमेटिक्स एंड स्टेटिस्टिक्स (Business Mathematics and Statistics)
  • कॉस्ट एकाउंटिंग (Cost Accounting)              
  • कंपनी लॉ (Company Law)
  • इंदिरेक्ट टैक्स लॉज़ (Indirect Tax Laws)
  • इंटरडिसिप्लिनरी इश्यूज इन इंडियन कॉमर्स (Interdisciplinary Issues in Indian Commerce)

सेमेस्टर : 4

  • ऑडिटिंग एंड सेक्टेरिअल प्रैक्टिस (Auditing and Secretarial Practice)
  • एडवांस्ड एकाउंटिंग (Advanced Accounting)
  • कॉस्ट मैनेजमेंट (Cost Management)
  • इंटरडिसिप्लिनरी सिक्योरिटी एनालिसिस एंड पोर्टफोलियो मैनेजमेंट (Interdisciplinary Security Analysis and Portfolio Management)
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट (Marketing Management)
  • क्वांटिटेटिव टेक्निक्स एंड मेथड्स (Quantitative Techniques and Methods)

सेमेस्टर : 5

  • एंट्रेप्रेन्योरशिप एंड स्माल बिज़नेस (Entrepreneurship and Small Business)
  • फाइनेंसियल मार्केट्स एंड सर्विसेज (Financial Markets and Services)
  • इंडियन इकॉनमी (Indian Economy)
  • इनकम टैक्स लॉ (Income Tax Law)
  • मैनेजमेंट एकाउंटिंग (Management Accounting)
  • प्रोडक्शन एंड ऑपरेशन मैनेजमेंट (Production and Operation Management)

सेमेस्टर : 6

  • डायरेक्ट टैक्स लॉज़ (Direct Tax Laws)
  • फाइनेंसियल मैनेजमेंट (Financial Management)
  • इश्यूज इन फाइनेंसियल रिपोर्टिंग (Issues in Financial Reporting)
  • ऑपरेशनल रिसर्च (Operational Research)
  • सोशल एंड बिज़नेस एथिक्स (Social and Business Ethics)
  • सेक्टोरल आस्पेक्ट्स ऑफ़ इंडियन इकॉनमी (Sectoral Aspects of Indian Economy)

इंडिया में ज्यादा बीकॉम स्टूडेंट को जॉब देने वाली कम्पनीज कोनसी है? (Who are the top recruiters for B.Com students in India?)

  • डेलॉइट (Delloite)
  • एर्न्स्ट एंड यंग (Ernst and young)
  • पीडब्लूसी (Pwc)
  • प्राइस वाटरहॉउस (Price Waterhouse)
  • केपीएमजी इंडिया (KPMG India)
  • ग्रांट थोरंटोन (Grant Thornton)
  • एसएस कोठारी मेहता & को. (SS Kothari Mehta & Co.)
  • लोढ़ा & को. (Lodha & Co.)
  • टीसीएस (TCS)
  • कॉग्निजेंट (Cognizant)
  • एचसीएल (HCL)
  • आईसीआईसीआई (ICICI)
  • आईबीएम (IBM)

बीकॉम करने के बाद आपको कहा कहा जॉब मिल सकती है? (After doing B.Com, where can you get a job?)

  • बिज़नेस कंसल्टंसीस (Business Consultancies)
  • बैंक्स (Banks)
  • बजट प्लानिंग बॉडीज (Budget Planning Bodies)
  • एजुकेशनल इंस्टीटूट्स (Educational Institutes)
  • फॉरेन ट्रेड सेंटर्स (Foreign Trade Centers)
  • इंडस्ट्रियल हाउसेस (Industrial Houses)
  • मर्चेंट बैंकिंग सेंटर्स (Merchant Banking Centers)
  • इन्वेस्टमेंट बैंकिंग सेक्टर्स (Investment Banking Sectors)
  • मार्केटिंग कम्पनीज (Marketing Companies)
  • पालिसी प्लानिंग बॉडीज (Policy Planning Bodies)
  • पब्लिक एकाउंटिंग फर्म्स (Public Accounting Firms)
  • ट्रेज़री एंड फोरेक्स डिपार्टमेंट्स (Treasury and Forex Departments)
  • वर्किंग कैपिटल मैनेजमेंट (Working Capital Management)

बीकॉम करने के बाद कोनसी पोजीशन पे जॉब मिल सकती है? (Which position can I get a job after doing B.Com?)

  • ऑडिटर (Auditor)
  • बिज़नेस कंसलटेंट (Business Consultant)
  • बजट एनालिस्ट (Budget Analyst)
  • सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट (Certified Public Accountant)
  • चीफ फाइनेंसियल अफसर (Chief Financial Officer)
  • चार्टर्ड मैनेजमेंट अकाउंटेंट (Chartered Management Accountant)
  • कॉस्ट एस्टीमेटर (Cost Estimator)
  • फाइनेंसियल एनालिस्ट (Financial Analyst)
  • फाइनेंस मैनेजर (Finance Manager)
  • स्टॉक ब्रोकर (Stock Broker)

बीकॉम करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है? (How much salary do you get after doing B.Com?)

बीकॉम कम्पलीट (B.Com Salary) करने के बाद आपको 15000 INR से लेकर के 30000 INR (15000 INR to 30000 INR Per Month)तक हर महीने की सैलरी मिल सकती है और ये तो आप जानते ही है की आपका जितना एक्सपीरियंस और स्किल ज्यादा होगी उतनी ही ज्यादा सैलरी आपको मिलेगी.

बीकॉम के बाद कोनसे कोर्स कर सकते है? (What course can I take after B.Com?)

  • एमबीए (MBA)
  • एम्.कॉम (M.Com)
  • गवर्नमेंट एग्जाम कोर्सेज (Government Exam Courses)
  • बैंकिंग एग्जाम कोर्सेज (Banking Exam Courses)

बीकॉम (B.Com) से जुडी सभी खास जानकारीया B.Com Full Form in Hindi – बीकॉम कोर्स क्या होता है और कैसे करे?  हमने आपको इस आर्टिकल में देने की पूरी कोशिस की है. jayhindnews को ये उम्मीद है की ये जानकारी आपको अच्छी और यूज़फूल लगी होगी। तो इस आर्टिकल को उनलोगो के साथ जरूर शेयर कीजिये जोकि इस बारे में जानकारी जूटा रहे है. और लास्ट में जय हिन्द।

BBA Full Form in Hindi – बीबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे?

BBA Full Form in Hindi – बीबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे? | इस पोस्ट में हम बीबीए के बारे में पूरी डिटेल में जानकारी देने वाले है जैसे बीबीए फुल फॉर्म क्या है? (What is BBA Full Form?), बीबीए फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है? (What is BBA Full Form in Hindi?) इसके अलावा भी हम निम्नलिखित जानकारी देने वाले है तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

  1. BBA क्या है?
  2. BBA Meaning in Hindi
  3. BBA Course Details in Hindi
  4. BBA का Duration कितना है?
  5. BBA का Types क्या है?
  6. BBA करने के Modes कितने है और BBA कैसे करे?
  7. BBA की Eligibility क्या है?
  8. BBA का Admission Process क्या है?
  9. BBA के Entrance Exams कौनसे है?
  10. पूरी दुनिया में BBA के Top Colleges कौनसे है?
  11. भारत में BBA के Top Colleges कौनसे है?
  12. BBA की Fees कितनी है?
  13. BBA में Specialization क्या है?
  14. BBA में Common Subjects कौनसे है?
  15. भारत में BBA के Top Recruiters कौन है?
  16. BBA Employment Area क्या है?
  17. दुनिया में BBA के Top Recruiters कौन है?
  18. BBA के बाद Salary कितनी मिलती है?
  19. BBA के बाद कौनसे Course कर सकते है?
  20. BBA करने के फायदे क्या है?
  21. BBA करने के नुकसान क्या है?

BBA Full Form in Hindi – बीबीए कोर्स क्या होता है और कैसे करे?

BBA का Full Form “Bachelor of Business Administration” होता है जिसे हम हिंदी में “व्यवसायिक प्रबंधन में स्नातक” भी कह सकते है। यह Commerce Background का एक Undergraduate Degree Course है। यह भारत और पूरी दुनिया में काफी प्रसिद्ध Course है जिसे हर Commerce Student करने की चाह रखता है। इसे हम Management का Professional Course भी कह सकते है जिसमे आपको Management, Finance, Tax, Marketing, Ethics जैसे Subject पढ़ाये जाते है। इस Course को करने के बाद आप Management के Field में Job पा सकते है।

BBA Full Form in Hindi, BBA Course Details in Hindi
BBA Full Form in Hindi, BBA Course Details in Hindi

BBA Course Details in Hindi

Course का Name BBA
BBA Full Form Bachelor of Business Administration
BBA Full Form in Hindi Vyavashayik Prabandhan Me Snatak (व्यवसायिक प्रबंधन में स्नातक)
विकिपीडिया बीबीए
श्रेणीशैक्षिक डिग्री
देश/क्षेत्र पूरी दुनिया
प्रसिद्ध बहोत ज्यादा
अवधि 3 साल (6 सेमेस्टर)
योग्यता एचएससी (45% के साथ)
प्रवेश प्रक्रिया 1. सीधा प्रवेश के द्वारा
2. प्रवेश परीक्षा के द्वारा
पढाई शुल्क 15,000 से 30,000 भारतीय रुपये तक
वेतन 15,000 से 30,000 भारतीय रुपये तक
आगे की पढाई 1. MBA
2. M.Com
3. Government Exam Courses
4. Banking Exam Courses)
BBA करने के फायदे 1. इसमें आपको Business की विस्तारपूर्वक जानकारी मिलती है।
2. Business Skill Improve होती है।
3. MBA करने में मददगार साबित होता है।
BBA करने के नुकसान 1. Time Consuming है।
2. Costly है।
3. ज्यादातर Theoretical Knowledge ही मिलता है।
4. अच्छी नौकरी मिलने की संभावना कम है।

BBA क्या है?

बीबीए (BBA) जो की बीबीएस (BBS) और बीएमएस (BMS) के नाम से भी इंडिया में पॉपुलर है. जिसे बैचलर ऑफ़ बिज़नेस स्टडीज (Bachelor of Business Studies) (BBS) और बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज (Bachelor of Management Studies) (BMS) के नाम से भी जाना जाता है. और यह एक बिज़नेस की बैचलर डिग्री है. और इस कोर्स को हम 12th के बाद कर सकते है. इस कोर्स को कम्पलीट करने के बाद आपको बिज़नेस के फील्ड में जॉब मिलती है.

BBA Duration :

बीबीए की अवधि (BBA Duration) की बात करे तो यह कोर्स तीन साल (Three Years) का होता है और इस कोर्स में छह सेमेस्टर (Six Semester) होते है.

BBA Types :

बीबीए एक प्रकार की डिग्री है यह एक अंडर ग्रेजुएट रेकग्नाइज डिग्री है. और इसकी वैलिडिटी पुरे इंडिया के साथ साथ विदेश में भी है. 

BBA Modes:

  1. BBA General (Pass Course): बीबीए जनरल  को पास कोर्स भी कहा जाता है. इसमें नार्मल 5 टु 6 सब्जेक्ट होते है जो हर साल पढ़ने होते है. यहाँ पर स्पेशलिसशन नहीं होता है जहा पर आपको किसी एक सब्जेक्ट में डीप स्टडी कर सकते है ऐसा कुछ नहीं है. यहाँ पर आपको कोई सेलेक्टिव या फिर इलेक्टिव पेपर नहीं मिलेगा जहा पर आप चॉइस कर सकते है. इसमें देपेंद करता है की आपका कॉलेज सेमेस्टर चलाता है या फिर एनुअल एग्जाम करवाता है. इसमें थोड़ा क्लियर करदु आपको अगर आपके कॉलेज में सेमेस्टर सिस्टम चलते है तो हर साल आपके दो सेमेस्टर होंगे मतलब साल में दो एग्जाम होंगे। और अगर आपका कॉलेज एनुअल एग्जाम लेता है तो आपको एक साल में एक फाइनल एग्जाम देना होता है.
  2. BBA Hons. (Specialization): इसमें अगर आपका सेमेस्टर सिस्टम हे तो लास्ट के दो सेमेस्टर मतलब 5 और 6, और अगर आपका एनुअल एग्जाम होता है तो बीबीए के लास्ट ईयर में स्पेशलिसशन सेलेक्ट करना होता है. अगर आपको किसी भी फिल्ड की डीप नॉलेज लेनी है तो आप स्पेशलाइजेशन को चूस कर सकते है. इसमें क्या क्या सस्पेशलाइजेशन होते है ये हम आपको इस पोस्ट में आगे बताते है.

BBA Eligibility :

इसको 10 + 2 (HSC) के बाद आप कभी भी पुरसुए कर सकते है. और आपकी 12th में मिनिमम 45 % होनी चाहिए. इसमें आपकी स्ट्रीम मेटर नहीं करती मीन्स अगर आप कॉमर्स, साइंस या फिर आर्ट्स किसी भी स्ट्रीम से हो तो भी आप बीबीए कर सकते हो.

BBA Admission Process :

  1. Direct Admission: इसमें आपको कोई भी एंट्रेंस एग्जाम देने और क्रेक करने की जरुरत नहीं होती है और इसमें आपको फीस पेय करके और कुछ पेपरवर्क करके डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है.
  2. Entrance Test: जिस कॉलेज में आपको डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है तो समझ लीजिये की उसकी रेपुटेशन ज्यादा नहीं है और आपको डिग्री कम्पलीट करने के बाद प्लेसमेंट में भी प्रॉब्लम आ सकती है. और कुछ रेपुटेड कॉलेज है जो हर साल अपने यहाँ एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करती है और इसमें ली जाने वाली एंट्रेंस एग्जाम की जानकारी निचे दी गयी है.

BBA Entrance Exam:

  1. CET BBA: यह एक राष्ट्रीय लेवल की परीक्षा (National Level Test) है जो हर साल मई (May) के महीने में कराया जाता है और यह एग्जाम इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी (Indraprastha University) द्वारा लिया जाता है.
  2. SET: इस एग्जाम का फुल फॉर्म होता है सिम्बोसिस एंट्रेंस टेस्ट (Symbiosis Entrance Test) होता है और यह एग्जाम हर साल मई (May) के महीने में होता है. यह एग्जाम सिम्बोसिस यूनिवर्सिटी (Symbiosis University) द्वारा कराया जाता है.
  3. NPAT BBA: यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम (National Level Test) है जो नरसी मुंजी इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज (Narsee Monjee Institute of Management Studies) द्वारा कंडक्ट किया जाता है.
  4. AIMA UGAT: इस एग्जाम का पूरा नाम है आइमा अंडर ग्रेजुएट एप्टीटुड टेस्ट (AIMA Under Graduate Aptitude Test). और यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम (National Level Test) है जो आल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (All India Management Association) द्वारा कंडक्ट किया जाता है.
  5. DU JAT: यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम (National Level Test) है जो दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) द्वारा प्रोफेशनल अंडरग्रेजुएट डिग्री में एडमिशन के लिए कराया जाता है.

Top BBA Colleges in the World:

बीबीए की कुछ शीर्ष कॉलेजेस है उनकी लिस्ट कुछ इस तरह से है.

  1. Massachusetts Institute of Technology
  2. Stanford University
  3. University of Oxford
  4. University of Cambridge
  5. University of California, Berkeley
  6. London School of Economics and Political Science
  7. Duke University
  8. University of Chicago
  9. University of Pennsylvania
  10. Harvard University

Top BBA Colleges in India:

  1. Indian Institute of Management, Ahemadabad
  2. Shaheed Sukhdev College of Business Studies, Delhi University
  3. Keshav Mahavidyalay, Delhi University
  4. DeenDayal Upadhyay College, Delhi University
  5. Anil Surendra Modi School of Commerce, NMIMS University, Mumbai
  6. Indian Institute of Management (IIM), Rohtak
  7. Christ University, Bangalore
  8. HR College of Commerce and Economics, Mumbai University
  9. Mithibhai College, Mumbai University
  10. Symbiosis Centre for Management Studies (SCMS) Pune, Symbiosis International University

BBA Fees:

दोस्तों बीबीए की फी स्ट्रक्चर (BBA Fee Struture) की बात करे तो आपको 3 साल के लिए 1 Lakh INR to 2.5 Lakhs INR तक देनी पड़ सकती है पर अगर आप कोशिस करते है गवर्नमेंट कॉलेज में बीबीए करने की तो वह आपको बहोत काम फीस चुकानी पड़ती है और स्कालरशिप भी मिल जाती है.

BBA Specialization:

  • BBA in Finance
  • BBA in Human Resourse
  • BBA in International Technology
  • BBA in Marketing
  • BBA in Foreign Trade
  • BBA in Supply Chain Management
  • BBA in Hotel Management
  • BBA in International Business Management

BBA Common Subjects:

  • Business Management
  • Business Economics
  • Business Law
  • Marketing Management
  • Finance Management
  • Human Resource Management
  • Quantitative Technique

यह भी पढ़े –

BBA Top Recruiters in India:

  • Hindustan Unilever
  • ICICI
  • Tata Consultancy Services
  • IBM

BBA Employment Area:

  • Public Sector
  • Private Sector
  • Government Sector
  • College/University
  • Banking Industry
  • Stock Market
  • Marketing Organisation
  • Import Export Company

BBA Job Types:

  • Finance Manager
  • Research and Development Manager
  • Business Consultant
  • Business Administration Researcher
  • Human Resource Manager
  • Information Systems Manager
  • Marketing Manager
  • Accountant
  • Auditors

Top Recruiters in the World for BBA:

  • Ernst & Young
  • Hewlett-Packard
  • McKinsey & Company
  • Microsoft
  • Goldman Sachs
  • Deloitte
  • Sony
  • Nokia

BBA Salary:

दोस्तों बीबीए (BBA Salary)करने के बाद आपको 15,000 INR से लेकर के 30,000 INR तक हर महीने की सैलरी मिल सकती है और ये तो आप जानते ही है की आपका जितना एक्सपीरियंस और स्किल ज्यादा होगी उतनी ही ज्यादा सैलरी आपको मिलेगी और अगर आप मेहनत करके गवर्नमेंट एग्जाम क्लियर कर सकते हो तो आप अच्छी सैलरी कमा सकते हो.

BBA Advance Courses:

  • MBA
  • M.Com
  • Government Exam Courses
  • Banking Exam Courses

BBA Advantages in Hindi:

  1. Indepth Knowledge of Business: BBA का Course आपको Business की सभी प्रकार की जानकारी देने के लिए बनाया गया है।
  2. Improve Business Skill: BBA में आपको Business का theoretical और practical ज्ञान दिया जाता है जिससे आपकी Business Skill काफी ज्यादा improve हो जाती है।
  3. Helpful for MBA: अगर अपने भविष्य में MBA करना चाहते है तो आपको BBA काफी मददगार साबित हो सकता है। क्युकी MBA में 70% से ज्यादा syllabus BBA जैसा ही होता है।

BBA Disadvantages in Hindi:

  1. Time Consuming: अगर आप फ्यूचर में Business ही करना चाहते है तो आपको कही से Internship कर लेनी चाहिए और वहा आप Business का सभी प्रकार का ज्ञान बहोत कम समय में ले सकते है। जबकि आप BBA करते है तो यहाँ आपके 3 साल लग जाते है।
  2. Costly: आज कल बहोत सारी Colleges BBA Offer करती है पर ज्यादातर College की Fees बहोत ज्यादा होती है।
  3. Theoretical Knowledge: इस कोर्स में ज्यादातर Syllabus आपको Theory पढ़ने में ही चला जाता है और Last Year में एक Practical Project करना होता है वो भी Market में Ready made मिल जाता है और ज्यादातर Students Market से ही खरीद लेते है। जिससे यह कह सकते है की इस कोर्स में Practical Knowledge का Percentage सिर्फ 0% से10% ही होता है।
  4. Less Employment: एक Research का कहना है की भारत में MBA करने वाले 70% से ज्यादा लोग बेरोजगार है या तो इससे कम level की job कर रहे है और ऐसा ही हाल BBA का भी है।

Conclusion:

दोस्तों मैंने खुद BBA किया है और में अपने अनुभव से कहु तो BBA में मुझे ज्यादातर Theoretical और Outdated Knowledge ही मिला है। इस Course करने में मेरी Fees करीब 1,50,000 से ज्यादा खर्च हुवी। और इसके बाद मेरा Job मिलने का Experience भी बहोत बुरा रहा। मेने कई जगह पे Apply किया तब जाके मुझे एक जगह पर Data Entry Operator की job मिली और जिसमे मेरी Salary 10,000 पर मंथ थी। वो भी मैंने छोड़ दी और अब Blogging कर रहा हु। अगर आपको लगता है की आप BBA करेंगे या उसके बाद mba करेंगे तो आपको आसानी से job मिल जाएगी तो यह आपका सबसे बड़ा ब्रह्म है क्युकी आज के टाइम में बहोत ज्यादा Competition है और काफी ज्यादा लोग waiting में है। इसलिए मेरा आपसे सुझाव है की BBA, MBA, B.Com, M.Com जैसे Course करके अपना पैसा और Time बर्बाद करने के बजाय कोई Practical Skill सीखो जो आप बहोत कम समय में कम पैसे लगाकर सिख सकते है और जिंदगीभर कमा सकते है।

बीबीए से जुडी सभी खास जानकारीया हमने आपको इस आर्टिकल में देने की पूरी कोशिस की है. jayhindnews को ये उम्मीद है की ये जानकारी आपको अच्छी और यूज़फूल लगी होगी। तो इस आर्टिकल को उनलोगो के साथ जरूर शेयर कीजिये जोकि इस बारे में जानकारी जूटा रहे है. और लास्ट में जय हिन्द।

What is M.Phil in Hindi – एम.फील क्या होता है इन हिंदी

What is M.Phil in Hindi – एम.फील क्या होता है इन हिंदी | अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन कर चुके है और इसके बाद भी आगे रिसर्च बेस्ड स्टडी करना चाहते है तो आप एम्.फील कर सकते है. और एम.फील क्या है?, और इसे करने की कोनसी कंडीशंस और क्राइटेरिया क्या है?, ये सब आपको आज हमारे इस आर्टिकल में पता चल जायेगा। इसीलिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े ताकि एम.फील कोर्स से जुडी सारी क्वेरी आप सोल्व कर सके.

What is M.Phil in Hindi

What is M.Phil in Hindi – एम.फील क्या होता है इन हिंदी

एम.फील की फुल फॉर्म है मास्टर ऑफ़ फिलोसोफी। और ये एक पोस्ट ग्रेजुएट एकेडेमिक रिसर्च प्रोग्राम है जिसकी अवधि दो साल की होती है. किसी भी स्ट्रीम से पोस्ट ग्रेजुएट होने के बाद आप एम.फील कर सकते है. यानि आपने चाहे साइंस, आर्ट्स, लॉ, हमनिटीज़ यानि की हिंदी, इंग्लिश, हिस्ट्री, इकोनॉमिक्स जैसी किसी भी सब्जेक्ट में मास्टर डिग्री ले रखी हो तो भी आप एम.फील करने के लिए एलिजिबल होंगे। इस कोर्स में थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल सब्जेक्ट भी होते है और रिसर्च वर्क भी एम.फील में शामिल होता है. एम.फील को सेकंड मास्टर्स डिग्री भी कहा जाता है जो मास्टर डिग्री और पी.एचडी के बिच में कम्प्लीट की जाती है.

एम.फील कोर्स करने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए – What is the Eligibility Criteria for M.Phil?

अगर आप एम.फील करना चाहते है तो इसके लिए आपका मास्टर्स डिग्री कम्प्लेट करना जरुरी है. यहाँ पर इम्पोर्टेन्ट पॉइंट ये है की आप उसी सब्जेक्ट में एम.फील कर सकते है जिस सब्जेक्ट में आपने मास्टर्स डिग्री कम्पलीट की हो. इसके अलावा कई कॉलेजेस और इंस्टिट्यूट की अलग अलग कंडीशन भी होती है. जैसे एम.फील कोर्स में एडमिशन लेने के लिए मास्टर्स डिग्री में कम से कम 55 % मार्क्स होना जरुरी है.

जनरली एम.फील कोर्स में एडमिशन पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री की परसेंटेज के बेज पर, मेरिट के हिसाब से दिया जाता है लेकिन कुछ यूनिवर्सिटीज में कॉमन एंट्रेंस टेस्ट क्लियर करने के बाद ही इस कोर्स में एडमिशन मिल पाता है.

एम.फील कोर्स करने के लिए कुछ पॉपुलर कॉलेजेस के नाम – Top M.Phil Colleges in India

  1. Madras Christian College, [MCC] Chennai
  2. Loyola College, Chennai
  3. Christ University, Bangalore
  4. Stella Maris College, Chennai
  5. Women`s Christian College, [WCC] Chennai
  6. Ethiraj College for Women, Chennai
  7. Aligarh Muslim University, [AMU] Aligarh
  8. L.S. Raheja College of Arts & Commerce, [LSRCA] Mumbai
  9. Dr NGP Arts and Science College, [DNGPASC] Coimbatore
  10. St Joseph’s College, Tiruchirappalli

यह भी पढ़े – Top M.Phil Colleges in India – List of M.Phil Colleges

एम.फील कोर्स करने के फायदे क्या क्या है? – What are the benefits of M.Phil Course?

एम.फील कोर्स में आपको आपके सब्जेक्ट की डीप नॉलेज मिलती है वो भी एकदम गहराई से जो रिसर्च बेस्ड होती है. इस कोर्स को करने के बाद आप अपने सब्जेक्ट के एक्सपर्ट बन जाते है. ऐसे में आपके लिए रिसर्च बेस्ड जॉब को चुनना या टीचिंग जॉब में जाना आसान और फायदेमंद हो जाता है. इस कोर्स के बाद आप पीएचडी भी कर सकते है.

एम.फील करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है? – How much salary do you get after M. Phil?

एम.फील करने के बाद आप कितना अर्न कर सकते है ये है इम्पोर्टेन्ट सवाल, तो ये आपके सब्जेक्ट और एम.फील करने के पर्पस पर डिपेंड करेगा यानि आप इकोनॉमिस्ट के तोर पर करियर बनाते है तो आप एवरेज 2 लाख पर ईयर सैलरी से सुरुवात कर सकते है.

और अगर आप अपने सब्जेक्ट के एकेडेमिक रिसर्चर बनना चाहते है तो भी आप एवरेज 2 लाख रुपये सालाना कमा सकते है. तो इस तरीके से आप असिस्टेंट प्रोफ़ेसर भी बन सकते है और सिविल सर्वेंट भी बन सकते हो क्युकी अपने सब्जेक्ट की डीप नॉलेज लेने के बाद आप मास्टर्स डिग्री की तुलना में बेहतर करियर ऑप्शन पा सकते है. वैसे अक्सर ये कन्फूजन भी रहता है की एम.फील और पी.एचडी में क्या डिफरेंस होता है? तो इस लिए इसे समझना बहोत जरुरी है तो आईये जानते है.

एम.फील और पी.एचडी में क्या डिफरेंस होता है? –
What is the difference between M.Phil and Ph.D.

  1. एम.फील और पीएचडी दोनों ही रिसर्च ओरिएंटेड कोर्सेज होते है.
  2. इन दोनों ही कोर्सेज को करने के लिए मास्टर डिग्री होना जरुरी होता है.
  3. एम.फील की अवधि 2 साल की होती है जबकि पीएचडी की अवधि 3-6 साल तक होती है.
  4. एम्.फील रिसर्च का एक छोटा सा रूप है जबकि पीएचडी का दायरा बहुत बड़ा होता है.
  5. एम.फील केवल एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है जबकि पीएचडी हाइएस्ट रैंकिंग डिग्री है जो की स्कॉलर को उसके रिसर्च वर्क के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा दी जाती है.
  6. एम.फील कोर्स से आपको “मास्टर ऑफ़ फिलोसोफी” की डिग्री मिलती है जबकि पीएचडी करके आप “डॉक्टर ऑफ़ फिलोसोफी” कहलायेंगे।
  7. दोनों ही कोर्सेज में आपको रिसर्च वर्क करना होगा और थीसिस तैयार करनी होगी लेकिन एम्.फील की थीसिस , पीएचडी की थीसिस से कही ज्यादा छोटी और आसान होगी क्युकी एम्.फील में रिसर्च वर्क को असेम्बल करके थीसिस बनायीं जा सकती है. लेकिन पीएचडी में तैयार की गयी थीसिस ओरिजिनल रिसर्च पर बेस्ड होनी चाहिए।

यह भी पढ़े –

दोस्तों अब आप जान चुके है की एम्.फील कोर्स क्या है? और इसे करने के लिए कोनसा प्रोसीजर फॉलो करने की जरुरत होती है. इसके साथ साथ आप एम्.फील और पीएचडी के डिफरेंस को भी समझ ही गए होंगे।

तो हम उम्मीद करते है की यह आर्टिकल What is M.Phil in Hindi – एम.फील क्या होता है इन हिंदी को पढ़के आप आपकी सारी क़्वेरी सोल्व कर पाएंगे और आपके लिए हमेशा की तरह मददगार भी साबित होगी। अब ये तो आप हमें कमेंट में लिखके ही बताएँगे की कितनी मददगार साबित हुवी है. और लास्ट में जयहिंद।

बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) क्या है और इसका स्कोप कितना है इन हिंदी

बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) क्या है और इसका स्कोप कितना है इन हिंदी | 12th Class में आने तक स्टूडेंट ये क्लियर कर चुके होते है की उन्हें स्कूल पूरा होने के बाद क्या करना है? कोनसे कोर्स में एडमिशन लेना है? और अपना करियर किस दिशा में मोड़ना है? किसीको इंजीनियर बनाना होता है, किसी को लॉयर या फिर आज कल तो इंटरप्रेन्योर भी काफी ज्यादा चल रहा है. वैसे कुछ और स्टूडेंट्स की बात करे तो एग्रीकल्चर के फिल्ड में भी लोग करियर बनाना चाहते है जो की बहोत ही इंटरेस्टिंग बात है और युनो काफी अच्छा लगता है. तो ऐसे में आज इस आर्टिकल में हम आपके लिए एग्रीकल्चर से बीएससी (B.Sc Agriculture) करने से जुडी सभी जरुरी जानकारी लेकर आये है इसीलिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े.

बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) क्या है

बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) क्यों करे और इसका स्कोप कितना है?

वैसे आपको ये जानकर हैरानी होगी की हमारा देश एक खेती प्रधान देश (Agriculture Country) है लेकिन फिर भी इस सब्जेक्ट को पढ़ने और एग्रीकल्चर को बेहतर बनाने की चाहत बहोत ही काम स्टूडेंट्स रखते है. और इसका मेन रीज़न ये ही है की इंडिया की यंग जनरेशन को एक्चुअली में अभी तक एग्रीकल्चर फिल्ड की ग्रोथ, प्रोग्रेस और पॉसिबिलिटीज के बारे में ज्यादा कुछ पता ही नहीं है. और इकोनॉमिस्ट का मानना है की एग्रीकल्चर फिल्ड बाकि सभी फील्ड्स के मुकाबले इस देश से गरीबी दूर करने में चार गुना ज्यादा इफेक्टिव साबित हो सकता है और अगर यंग माइंडस इस फिल्ड में अपना करियर आजमाए तो यंग इंटरप्रेन्योर के लिए एग्रीकल्चर किसी सुनहरे अवसर की तरह काम आएगी। क्युकी एग्रीकल्चर जैसी फिल्ड को यंग जनरेशन का साथ चाहिए ही क्यों की नए नए इनोवेशन कर सके और युथ को ऐसा करियर चाहिए जिसमे वो आगे बढ़ सके. तो एग्रीकल्चर सब्जेक्ट में कितना स्कोप मिल सकता है ये जानने के बाद अब जानते है की बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स क्या है तो चलिए आगे बढ़ते है.

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स (B.Sc Agriculture Course) क्या है?

ये एक बैचलर डिग्री प्रोग्राम (Bachelor Degree Program) है. जिसकी अवधि (Duration) चार (4) साल की होती है. इस अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम (Under Graduate Program) को करने के बाद स्टूडेंट्स एग्रीकल्चर प्रोडक्टिविटी को इम्प्रूव करने, प्रोडक्ट्स को मैनेज करने और रिसर्च एक्टिविटी करके फ्यूचर डेवलपमेंट के लिए कंट्रीब्यूट करने के लिए तैयार हो जाते है. इस कोर्स में एग्रीकल्चर साइंस (Agriculture Science), मॉडर्न साइंटिफिक इक्विपमेंट एंड टेक्निक्स (Modern Scientific Equipment and Techniques), साइल साइंस (Soil Science), वाटर रिसोर्स मैनेजमेंट (Water Resource Management) और बायो टेक्नोलॉजी (Bio-Technology) के बेसिक्स सिखाये जाते है.

बीएससी एग्रीकल्चर करने वाले स्टूडेंट्स को एग्रोनोमी (Agronomy),प्लांट जेनेटिक्स (Plant Genetics), साइल साइंस (Soil Science), एंटोमोलोग्य (Entomology), एग्रीकल्चरल इकोनॉमिक्स (Agricultural Economics), एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग (Agricultural Engineering), एग्रीकल्चरल मीटरोलॉजी (Agricultural Meteorology), प्लांट पैथोलॉजी (Plant Pathology), हॉर्टिकल्चर (Horticulture) और एग्रीकल्चरल एक्सटेंशन (Agricultural Extension) से जुडी पूरी जानकारी मिलती है जिसके लिए थ्योरी (Theory) और प्रैक्टिकल (Practical) सेसन होते है.

इतना ही नहीं एग्रीकल्चर एजुकेशन एक बहोत ही वाइड टर्म है. जिसमे ये डिसिप्लिन शामिल होते है. एग्रीकल्चर या एग्रोनोमी (Agriculture or Agronomy), वेटरनरी साइंस (Veterinary Science), फॉरेस्ट्री (Forestry), फिशरीज (Fisheries), हॉर्टिकल्चर (Horticulture) और होम साइंस (Home Science).

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स करने के लिए एजुकेशनल क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए? – Educational Qualification for B.Sc Agriculture

तो 12th क्लास पास कर चुके ऐसे स्टूडेंट्स जिनके पास साइंस स्ट्रीम रही हो चाहे पीसीएम यानि की फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स हो या पीसीबी यानि फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी। और जिन्हे एग्रीकल्चर सेक्टर में इंटरेस्ट हो, तो ऐसे स्टूडेंट्स बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स कर सकते है.

बीएससी एग्रीकल्चर के लिए एडमिशन प्रोसेस क्या है? – Admission Process for B.Sc Agriculture

बात करे एडमिशन प्रोसेस की तो अगर आप एक अच्छे गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है तो आपको उस कोलेज से रिलेटेड एग्रीकल्चर एंट्रेंस एग्जाम (Agriculture Entrance Exam) देना होगा। एंट्रेंस एग्जाम स्टेट लेवल पर , कॉलेज लेवल पर और नेशनल लेवल पर हर साल होते है. KEAM, EAMCET Entrance Exam है जिनमे से KEAM केरल स्टेट से जुड़ा एंट्रेंस टेस्ट है और EAMCET आंध्रप्रदेश और तेलंगाना के एंट्रेंस टेस्ट है.

ऐसे ही कुछ और इम्पोर्टेन्ट एग्रीकल्चर एंट्रेंस एग्जाम निम्नलिखित है,

  • AGRICET
  • CG Pre Agriculture Test (PAT)
  • GB Pant University Admissions (GBPUAT)
  • Indian Council of Agricultural Research (ICAR) – AIEEA UG
  • Indira Gandhi Agricultural University (IGKV) CET
  • MCAER Common Entrance Test (CET)
  • MP Pre Agriculture Test (PAT)
  • Orissa University of Agriculture and Technology (OUAT)
  • Punjab Agricultural University (PAU) Entrance Exam
  • Rajasthan Joint Entrance Test (JET)
  • Uttar Pradesh Combined Agricultural and Technology Entrance Test (UPCATET)

Top B.Sc Agriculture colleges in India

  1. ICAR-National Dairy Research Institute (NDRI)
  2. ICAR-Indian Agricultural Research Institute
  3. GB Pant University of Agriculture & Technology
  4. Chaudhary Charan Singh, Haryana Agriculture University
  5. ICAR-Indian Veterinary Research Institute
  6. Professor Jayashankar Telangana State Agricultural University
  7. Punjab Agricultural University
  8. Guru Angad Dev Veterinary and Animal Sciences University
  9. Jawaharlal Nehru Krishi Vishwa Vidyalaya
  10. Indira Gandhi Krishi Vishwavidyalaya

यह भी पढ़े – Top 10 Agricultural Universities in India

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद कोनसे हायर एजुकेशन कोर्स कर सकते है? – Higher Education Course After B.Sc Agriculture

बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) करने के बाद, अगर आप अपनी एजुकेशन को आगे बढ़ाना चाहते है तो Agriculture Subject मे Masters Degree ले सकते है और उसके बाद Teaching Job में जा सकते है. इसके आलावा अगर आप Agriculture Research में career बनाना चाहते है तो Ph.D भी कर सकते है.

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद कहा जॉब मिलती है? – Job Opportunity After B.Sc Agriculture

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद आप पब्लिक और प्राइवेट दोनों ही सेक्टर में जॉब पा सकते है. तो आइये जानते है कुछ गवर्नमेंट्स सेक्टर (Government Sector) के बारे में जहा पे आपको जॉब मिल सकती है.

  • Indian Agricultural Research Institute
  • National Seeds Corporation Limited
  • State Farms Corporation of India
  • Food Corporation of India
  • National Dairy Development Board
  • NABARD and Other Banks
  • Agricultural Finance Corporations
  • Indian Council of Agricultural Research
  • Council of Scientific and Industrial Research
  • North Eastern Region Agricultural Marketing Corporation

अब जान लेते है कुछ प्राइवेट सेक्टर (Private Sector) के बारे में जहा पे आपको जॉब मिल सकती है.

  • Agro-industries
  • Agriculture Marketing
  • Finance Sector with the Focus On Agriculture
  • Micro-finance Institutions
  • Fertilizer Companies
  • Agri-biotech Orgaizations

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद कौन कौन सी जॉब पा सकते है? – Job Position After B.Sc Agriculture

बीएससी एग्रीकल्चर कम्पलीट करने के बाद आप निचे बताई गयी पोजीशन पर जॉब पा सकते है.

  • Agriculture Officer
  • Agricultural Research Scientist
  • Agriculture Development Officer
  • Quality Assurance Officer
  • Assistant Plantation Manager
  • Agriculture Technician
  • Rice Breeder
  • Marketing Executive
  • Seed Technologist
  • Farm Manager

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है? – Salary for B.Sc Agriculture

जहा तक सैलरी की बात है तो एक बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स करने वाले फ्रेशर कैंडिडेट की शुरुवाती सैलरी 2 – 4.5 लाख रूपया पर ईयर (2 – 4.5 Lakh Rupees Per Year) हो सकती है. और ये तो आप भी जानते है की कैंडिडेट की स्किल, एजुकेशनल अचीवमेंट और इनोवेटिव माइंड इस सैलरी में बहुत डिफरेंस ला सकते है.

तो दोस्तों, अब आप जान गए है की बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स क्या है इससे जुड़े एंट्रेंस टेस्ट और टॉप कॉलेजेस कोनसे है और ये अंडर ग्रेजुएट कोर्स करने के बाद मिलने वाले जॉब ऑप्शन कौन कौन से होते है.

यह भी पढ़े –

हमे उम्मीद है की यह आर्टिकल बीएससी एग्रीकल्चर (B.Sc Agriculture) क्या है और इसका स्कोप कितना है इन हिंदी आपको जरूर पसंद आयी होगी और आपके लिए अपना करियर ऑप्शन चुनने में हेल्पफुल भी साबित होगी।